Home > Leaks > कोरोना महामारी CONID-19 से निपटने के लिए यह जरुरी कदम उठाना ही असली देशभक्ति

कोरोना महामारी CONID-19 से निपटने के लिए यह जरुरी कदम उठाना ही असली देशभक्ति

Spread the love

Image Credits: IANS

Bhopal: चीन (China) के वुहान (Wuhan) से शुरू हुआ कोरोना वायरस (Coronavirus) अब तक 170 से ज्यादा देशों में पहुंच गया है। इसके संक्रमण से प्राण गवाने वाले लोगों की संख्या 11,401 हो गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे महामारी घोषित कर दिया है।




कोरोना वायरस COVID-19 एक ऐसा वायरस बन गया है, जिसने सभी की दहशत में डाल दिया है। कोरोना को रोकना अकेले प्रशासन के बस में नहीं है, इसके लिए हर भारतवासी को इसकी रोकथाम के लिए साथ देना होगा। इस कठिन परिस्थिति में प्रशासन का साथ देना होगा। जिस तरह से ये आंकड़ा बढ़ता जा रहा है उसको देखकर सभी खोफ में आ गए है। बच्चे और 60 साल से ऊपर वालो को इससे ज्यादा बचना होगा।

हर परिवार को अपने सदस्य की जिम्मेदारी उठानी होगी। तभी हम सब एक जुट होकर इसकी रोकथाम करने में सफल हो पाएंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन व अपनी सरकार की सलाह को मानते हुए और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू व नवाग्रह अपील के अनुसार आवश्यकता होने पर ही घर से बाहर निकले। हमे अपने प्रशासन और सरकार की बात को मानना होगा।

इसकी कारण यह है कि कोरोना वायरस भारत में कम्युनिटी ट्रांसमिशन फेज में पहुंच चुका है अब ये इटली, अमेरिका, ईरान जैसे देशों की तरह काफी तीव्रगति से फैल सकता है। हम सबको इसकी गहराई समझनी होगी, प्रशासन की बात को समझना होगा। भारत में कोरोना वायरस के पॉजिटिव केस वाले मरीजों की संख्या को 45 दिन में 100 ही पार कर पाई थी, लेकिन 6 दिन में ये आंकड़ा बढ़कर 250 के पार पहुँच गया है।



शुक्रवार की शाम तक 258 पहुँच गई इसकी संख्या। इससे यही निष्कर्ष निकाला जा सकता है की कोरोना बहुत तीव्र गति से फैल रहा है। इन 258 लोगों में अधिकतर वही लोग पाये गए है, जो विदेश से लौटे हैं और बाकी उनके संपर्क में आने से ग्रसित हो गए है। भारत में मात्र 4 लोगो को ही अपनी जान गवानी पड़ी और काफी मरीज ठीक भी हो गये हैं।

दुनिया के आकड़ो पर नजर डाले तो चीन से शुरू इस बीमारी के मरीजों की संख्या को 1 लाख पार करने में तीन महीने का समय लगा, लेकिन मात्र 12 दिन में ये संख्या 2 लाख को पार कर गई है और इस समय ये आंकड़ा बढ़कर ढाई लाख के आसपास है। इससे यह संकेत मिल रहे है कि वायरस तेजी से फैलने में सफल हो रहा है।



संक्रमित लोगों के नए क्षेत्रों में जाने से देश से राज्य और राज्य से शहर तक अपनी दस्तक दे रहा है। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग, सेल्फ आइसोलेशन, क्वारंटाइन जैसी चीजें बहुत ही आवश्यक हैं और ऐसा करने के लिए हमें सरकार या प्रशासन के सलाह की नहीं, बल्कि खुद को गंभीरता से इस संकट से लड़ने के लिए तैयार करने की आवश्यकता है। 22 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी ने जनता कर्फ्यू के माध्यम से लोगो को संदेश दिया है कि सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक घर में रहे, किसी के सम्पर्क में ना आये।

उद्देश्य यही है, लोगों में संक्रमण का बन रही चेन को तोड़ना है। अगर ये कदम नही उठाया गया तो ये चैन और मजबूत होते जाएगी। जरूरत है कि 22 मार्च के बाद भी जरूरत ना हो तो घर पर रहें, जरूरत पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें। कम से कम लोगों के सम्पर्क में आये। कम से कम लोगो से मिलने की कोशिश करें।

कोरोना का वायरस किसके शरीर से किसके शरीर तक पहुंच जाए इसका पता नही है। कोरोना वायरस के चेन को तोड़ना है, तो एक ही काम करना होगा कुछ दिन शुकुन से घर मे गुजारे। भारत जैसे विशाल देश में जिसकी आबादी 130 करोड़ है और आबादी का घनत्व भी काफी ज्यादा है। इसके लिए हम सब को एक जुट होकर कदम उठाना होगा। कोरोना जैसे वायरस का खात्मा करना होगा।


Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!