Home > Leaks > MP की चांटा मारने वाली महिला अफसर प्रिय वर्मा की यह पड़ताल सारे भेद खोल देगी: Who Is Priya Verma

MP की चांटा मारने वाली महिला अफसर प्रिय वर्मा की यह पड़ताल सारे भेद खोल देगी: Who Is Priya Verma

Priya Verma Collector Info
Spread the love

Photos Credits: Twitter




मध्यप्रदेश की दो महिला अधिकारी और कलेक्टर कल से खासी वायरल हो रही है और सोशल मीडिया पर लोग उनका समर्थन और विरोध दोनों ही कर रहे है। इसके बारे में लोगो की राये कुछ मिली जुली आ रही है। मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे एक शख्श को महिला कलेक्टर निधि निवेदिता ने थप्पड़ रसीद दिया। अब इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। राजगढ़ के ब्यावरा में भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्थानीय लोगों के साथ CAA के समर्थन में रविवार को एक रैली आयोजित करने का फैसला किया था।

इस रैली में शामिल लोगों और प्रशासन के अधिकारियों के बीच धक्का-मुक्की की स्थिति बन गई। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा से धक्का-मुक्की हुई। दूसरी ओर जिलाधिकारी निधि निवेदिता ने प्रदर्शनकारी को थप्पड़ रसीद दिया। प्रदर्शनकारी को थप्पड़ जड़ने के चलते विवाद और अधिक बढ़ गया और स्थिति बिगड़ने लगी तो पुलिस जवानों ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया।



जिलाधिकारी निधि निवेदिता (Nidhi Nivedita) द्वारा प्रदर्शनकारी को थप्पड़ मारने और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा द्वारा प्रदर्शनकारियों को खींचने के वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे हैं। इसे ट्वीट करते हुए मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने भी अपना विरोध जताया है।

कलेक्‍टर निधि निवेदिता और एडीएम प्रिया वर्मा ने नागरिकता कानून CAA के समर्थन में रविवार को आयोजित भाजपा की रैली रोकने की कोशिश की। जब प्रदर्शनकारियों ने उनकी बात नहीं मानी तो प्रिया वर्मा की भाजपा कार्यकर्ताओं से बहस हो गई। इसके बाद एडीएम वर्मा ने प्रदर्शनकारियों को थप्‍पड़ जड़ते देखि गई थी।

इसी दौरान किसी प्रदर्शनकारी ने उनकी चोटी खींच दी थी। कलेक्‍टर निधि निवेदिता (Nidhi Nivedita) के साथ भी प्रदर्शनकारियों ने की बहस हुई थी। इस पर निधि ने भी कंटाप जड़े थे। आपको बता दें की जिलाधिकारी निधि निवेदिता (Nidhi Nevedita) को JNU पासआउट बताया जा रहा है। ऐसे में लोग उनकी मानसिकता को JNU की आज़ादी और टुकड़े ब्रिगेट से जोड़कर देख रहे हैं।

अब बात एडीएम प्रिया वर्मा की करे तो, वे मीडिया की सुर्खियों के साथ ही सोशल मीडिया में छाई ये महिला राजगढ़ जिले की 24 वर्षीय डिप्‍टी कलेक्‍टर प्रिया वर्मा थी। प्रिय वर्मा के गले में एक नीला रंग का कपडा बंधा हुआ था, जिसे देखकर ट्विटर पर एक यूजर ने इसे भीम आर्मी से जोड़ दिया और प्रिय वर्मा को जय भीम और भीम आर्मी की मानसिकता वाला बताया। आपको बता दें की भीम आर्मी भी CAA विरोधी विचारधारा की है।



ADM प्रिया वर्मा का जन्‍म इंदौर के मंगलिया गांव के एक सामान्य परिवार में हुआ था। Priya Verma के पिता एक जनरल स्‍टोर चलाते हैं। मीडिया में आई खबर के अनुसार प्रिया वर्मा ने बताया कि उनके माता-पिता उनके लड़की होने के कारण उनसे अच्‍छा व्‍यवहार नहीं करते थे। प्रिया वर्मा जब बड़ी हुईं, तो उन्‍होंने इस भेदभाव को समाप्त करने की ठानी। प्रिया वर्मा ने आर्थिक तंगी और अन्न मुश्किलों के बावजूत मध्‍य प्रदेश लोकसेवा आयोग परीक्षा की तैयारी शुरू की।

प्रिय वर्मा ने स्वयं ही मध्‍य प्रदेश PSC (MPPSC) की तैयारी की। उन्‍होंने MPPSC के प्री-एग्‍जाम में सफलता हासिल करने के बाद माता-पिता ने कोचिंग की अनुमति ली। फिर वे सफल हुई और इसके बाद 2016 में वह DSP के लिए चुन ली गईं। तब उनकी उम्र महज 21 साल थी। 2017 में MPPSC एग्जाम में प्रिय वर्मा पूरे मध्यप्रदेश में चौथी रैंक पर रहीं और वह डिप्‍टी कलेक्‍टर के लिए चुनी ली गईं।



हमें एक दर्शक राहुल पांडेय ने बताया की मतलब जब उनके साथ लड़की होने के चलते माता पिता भेदभाव करते थे तब उनके बुरा लगता था और अब सफल होने और पावर मिलने के बाद वे मर्दों को थप्पड़ रसीदते देखी गई, तो क्या यह अब मर्दों के साथ भेदभाव नहीं है। खैर जो भी हो, पर इतनी काम उम्र में सफलता के बाद थोड़ा घमंड आ ही जाता है।

मीडिया रिपोर्ट्स में प्रिय वर्मा के पक्ष में लिखा गया की राजगढ़ में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने रविवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में एक रैली निकाली। रैली के दौरान हंगामा बढ़ा और भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा अभद्रता की गई। राजगढ़ की डेप्युटी कलेक्टर प्रिया वर्मा स्थितियों पर नियंत्रण के लिए टीम के साथ कार्यरत रहीं।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनके बाल खींचे और धक्कामुक्की भी की। प्रिया (Lady Deputy Collector Priya Verma) से एनबीटी ऑनलाइन ने बातचीत की। वह कहती हैं कि जब मैं उन्हें समझा रही थी तभी किसी ने मुझे पीछे से लात भी मारी थी। अगर इस बात पर गौर किया जाये, तो उक्त वायरल वीडियो में तो ऐसा कुछ नहीं हुआ था। कोई भी इंसान महिला अधिकारी प्रिय वर्मा को लात मारते नहीं दिखा है।


Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!