Home > Gajab > किस्सा जब सोनिया गांधी को नेपाल पशुपतिनाथ मंदिर में जानें से रोककर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था

किस्सा जब सोनिया गांधी को नेपाल पशुपतिनाथ मंदिर में जानें से रोककर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था

SoniaGandhiPashupatinathTempleStory
Spread the love





राहुल गाँधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा की और बीच रास्ते में नेपाल मे रुके। अब नेपाल में राहुल गाँधी के रुकने पर फिर विवाद हो गया। राहुल गाँधी ने एक रेस्तरोस्ट में खाने में नेवारी माँसाहार व्यंजन दार्जिलिङ चिकन कुरकुरे, चिकन मोमो तथा बँदेल मतलब सुअर का मांस खाया। नेपाल मे जंगली सूअर के माँस को बंदेल कहा जाता है। और इसके बाद राहुल गाँधी ने कैलाश मानसरोवर की यात्रा की।

राहुल गाँधी ने अपनी यात्रा से लौटते वक़्त नेपाल के प्रसिद्ध तीर्थ मंदिर पशुपतिनाथ महादेव मंदिर जाने की इच्छा भी ज़ाहिर की थी। इससे पहले भी राहुल गाँधी हिंदू विरोधी बयान देकर विवाद खड़ा कर चुके हैं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तेलंगाना मेंअपने दो दिवसीय दौरे पर हैदराबाद कहा था की “मैं हिंदुत्व के किसी भी प्रकार में विश्वास नहीं रखता, चाहे वह नरम हिंदुत्व हो या कट्टर हिंदुत्व हो।”



आपको बता दें की 1985 मे राहुल गाँधी की माँ सोनिया गाँधी को नेपाल के पशुपतिनाथ महादेव मंदिर में घुसने से रोक दिया गया था। किस्सा तब का है जब राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे और वक़्त था 1985 का। तब तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी अपनी विदेशी पत्नी सोनिया गांधी के साथ नेपाल यात्रा पर गए थे। आपको बता दें की राजीव गांधी से शादी करने के पहले सोनिया गांधी का असली नाम आनटोनिया अलबीना माइनो (Edvige Antonia Albina Màino) था।

तब उस वक़्त के नेपाल के राजा बीरेंद्र और पशुपति नाथ मंदिर के तब के पुजारी ने सोनिया गांधी को पशुपतिनाथ मंदिर में घुसने से रोक दिया था। मतलब प्रधानमंत्री राजीव गांधी और पत्नी सोनिया गांधी पर नेपाल के पशुपतिनाथ मंदिर में घुसने पर प्रतिबन्ध लगा दिया था। तब पशुपतिनाथ मंदिर के ट्रष्टी रहे ‘नरोत्तम वैध्य’ का कहना था की “सोनिया गांधी हिन्दू नहीं है और उनका जन्म हिन्दू के रूप में नहीं हुआ है। सोनिया गांधी एक क्रिस्चियन हैं।”

प्राचीन पशुपतिनाथ मंदिर के गर्वग्रह में सिर्फ उन्ही को प्रवेश मिलता है जो हिन्दू के रूप में जन्म लिया हो और हिन्दू हो। आपको याद दिया दें की राजीव गांधी ने भी कश्मीर में फारूख अब्दुल्ला के साथ एक मंच पर कहा था की ‘मैं हिन्दू नहीं हूँ’। अतः पशुपति मंदिर के पुजारियों को राजीव गांधी पर भी शक था।



इस किस्से के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी के पशुनपतिनाथ मंदिर में नहीं जानें दिए जाने की घटना का बदला लेने के लिए नेपाल पर कई तरह के प्रतिबन्ध लगा दिए थे और नेपाल से रिश्ते बिगाड़ लिए थे। ऐसे राजीव गांधी ने बदले की भावना से किया था। जिसका खामियाज़ा नेपाल और भारत दोनों को भुगतान पड़ा था। इसका एक और नुक्सान भारत को हुआ था जो आज भी हो रहा है।

वह नुक्सान था की भारत के प्रतिबन्ध की वजह से नेपाल को मज़बूरी में अन्न पड़ोसी देश चीन से मदत लेनी पड़ी और चीन नेपाल में घुसने और अपनी साख नेपाल में बनाने में कामयाब हो गया। अब भारत के लिए नेपाल के खतरे और नुक्सान से तो सभी भारतीय परिचित हैं ही। तो यह था राहुल गांधी की पहले वाली पीढ़ी का नेपाल में हिन्दू वाला विवाद। अब अभी अभी राहुल गांधी का नेपाल में विवाद हुआ तो इसलिये ये भी आप सभी माननीय पाठकों को यह किस्सा भी बता दिया।

किसी यूज़र ने सोशल मीडीया पर पूछा की ‘Was Sonia Gandhi not allowed at Pashupatinath Temple Nepal ?’ तब उत्तर मिला ‘Yes PM Rajiv Gandhi’s wife Sonia Gandhi had not allowed at Pashupatinath Mandir Kathmandu Nepal. In 1985 Mahadev Pashupatinath Temple Priest ordered ‘close the gates if Sonia Gandhi came.’ King of Nepal Birendra said ‘Only born as Hindu is allowed inside Pashupatinath Temple. Rule is rule. Thats It.




Title: When Rahul Gandhi’s mother Sonia Gandhi was banned at Pashupatinath Temple Nepal.

News & Story Sources From: www.outlookindia.com & www.telegraphindia.com

Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!