Home > Gajab > इस पुस्तक में पहले ही बताया गया की क्यों North-East राज्यों में CAA कानून की जरुरत है: अवश्य पढ़ें

इस पुस्तक में पहले ही बताया गया की क्यों North-East राज्यों में CAA कानून की जरुरत है: अवश्य पढ़ें

The Last Battle of Saraighat Shubhrashtra
Spread the love

Book Image Credits: Amazon Crap




Delhi: आजकल देश में CAA का काफी विरोध चल रहा है और फिर जामिया से लेकर JNU तक टुकड़े टुकड़े गैंग और आज़ादी ब्रिगेट उग्र प्रदर्शन और हिंसा की वजह से देश और राजधानी दिल्ली का माहोल भी खराब किये हुए है। किन्तु भारत के उत्तर पूर्व राज्यों की स्थिति अब पहले से कही ज्यादा अच्छी हो चली है। इस पर मार्किट और ऑनलाइन माध्यम पर एक पूरी किताब भी उपलब्ध है। यह किताब लोगो में खासा प्रभाव बना रही है। इस किताब के पाठक दिनों दिन बढ़ रहे हैं।

असल में यह किताब भारत के उत्तर पूर्व राज्यों के इतिहास से लेकर अभी की राजनीति को स्पष्ट बयां करती है। इस किताब का नाम The Last Battle of Saraighat: The Story of the BJP’s Rise in the North-east है। इस किताब के लेखक जानी मानी TV न्यूज़ डिबेटर और पेनालिस्ट शुभ्राष्ट्रा और रजत सेठी है। यह किताब लेखन के उस लेवल को प्रदर्शित करती है, जो आज के समय में लुप्त हो गया है।



आज के लेखक देश विरोधी एजेंडा भुनाने का काम ज्यादा कर रहे है। इस समय मार्किट में ऐसी किताब का आना उच्च लेखन की फिल्ड में मील का पत्थर साबित हो रहा है। यह किताब इस कदर देश विरोधियों को चुभ रही है की मानो शरीर में 1000 चीटियां चढ़ गई हों। जैसे की उन चीटियों ने देशविरोधियों की नसों में डांक चुबो चुबो कर खून की धरा बहा दी हो।

The Last Battle of Saraighat Book Buy

इस मुद्दे पर खुद किताब की लेखिका शुभ्राष्ट्रा (Shubhrastha) कहती है की वामपंथी कीड़े जब जब कुलबुला के हमारी तरफ़ किटकिटाए हैं, किताब जम के बिकी है। हृदय से आप सभी पाठकों का आभार। असल में भारत के उत्तर पूर्व के राज्यों के बारे में जानते और वहां की राजनीति के बारे में डाटा जुटाने का काम बहुत कठिन है और भाषा की भी समस्या है, किन्तु इस पुस्तक में आपके सारे प्रश्नों के उत्तर मिलेंगे।

अभी देश में CAA कानून का विरोघ हो रहा है। शुभ्रष्ट्रा की लिखी यह किताब CAA के काफी पहले ही आ गई थी। किन्तु इस किताब के आपको पढ़कर यह बात समझ आ जाने वाली है की CAA की क्या अहमियत है उसकी एक झलक इस पुस्तक में हमने देखी है। खुद पढ़िए और बताइए कि ऐसा क्या है कि वामपंथी खेमे को इस किताब के नाम से पेट दर्द हो जाता है? नागरिकता नानुन के नाम पर देश में हिंसा, आगजनी और तोड़ फोड़ करने के बाद अब इस पुस्तक से इन हिंसक दंगाइयों को पेट दर्द होने का असली करण आपको पुस्तक पढ़कर स्वयं मिल जायेगा।

इस किताब की लेखिका Shubhrastha का भी कहना है की वामपंथी क्यों किटकिटा रहे है। इस किताब को पढ़ने के लिए आप इसे अमेज़न वेबसाइट (Amazon) से डायरेक्ट आर्डर कर सकते हैं। हमने आपकी सुविधा के लिए नीचे इस Book “The Last Battle of Saraighat” की Amazon Website Link भी दे दी है। आप नीचे दिखाई गई किताब पर एक क्लिक करके इसे खरीद करते हैं।


Buy Book “The Last Battle of Saraighat: The Story of the BJP’s Rise in the North-east” Here in Amazon. Best book to knowing all about North-East Politics and History.

जनता के ज्ञान के चाकसू खोल देने वाली यह किताब ऑनलाइन माध्यम से मात्र 309 रुपये में उपलब्ध है। देश के युवाओं को इसे पढ़ने की अवश्य जरुरत है। यह पुस्तक CAA पर उठे विवाद के मर्म की व्याख्या का एक छोटा सा किंतु ईमानदार प्रयास है।

इस पुस्तक से ऐसे सत्य से आप ज़रूर रूबरू होंगे, जिनको इतिहास के पन्नों के बीच दबाया गया। इस पुस्तक में यह भी बताया गया है की इस प्रकार से भारत के उत्तर पूर्व (North-East India) के राज्य में भाजपा ने झंडे गाड़े और वामपंथी शासन की जड़ों को खोदने में भाजपा ने सफलता हासिल की।

इस पुस्तक के लेखन में Writer Shubhrashtra ने भरसक ईमानदारी से वस्तुस्थिति का आंकलन करने की कोशिश की है। निष्पक्षता के साथ विचारधाराओं और पार्टियों की आलोचना अपने वैयक्तिक विचारों से ऊपर उठकर करने की कोशिश की। आपको इसका उदाहरण किताब पढ़ने के दौरान मिलेगा।


Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!