Home > India > मोदी के विरुद्ध खड़े नहीं हो पाएंगे पूर्व BSF जवान तेज बहादुर। उम्मीदो पर पानी फिरता दिखाई दे रहा है।

मोदी के विरुद्ध खड़े नहीं हो पाएंगे पूर्व BSF जवान तेज बहादुर। उम्मीदो पर पानी फिरता दिखाई दे रहा है।

Share This Post





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरूद्ध वाराणसी सीट से चुनाव मैदान में उतरने के लिए तैयार सपा-बसपा गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी के रूप में पर्चा भरने बाले बीएसएफ के निलंबित सिपाही तेज बहादुर यादव का पर्चा पूरी तरह से खारिज कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक निर्वाचन अधिकारी ने तेज बहादुर के पर्चा भरने की प्रकिया को खारिज कर दिया है।

सपा-बसपा गठबंधन की ओर से शालिनी यादव वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध मैदान में आएंगी। पर्चा भरने की प्रकिया को लेकर ही तेज बहादुर का नामांकन रद्द किया गया। पर्चा भरने की प्रकिया में भिन्नता पाई गई। तेज बहादुर ने जो निर्दलीय पर्चा भरा था, उसमें और सपा तरफ से भरे गए पर्चे पर अलग अलग बाते सामने आई।



बीएसएफ से निलंबित के संबंध में दो पर्चा भरने की सम्पूर्ण प्रकिया में भिन्नता दिखाई दी। जो बाते सामने आई उससे कुछ साफ स्पष्ट नही हो रहा था इसके लिए चुनाव आयोग ने नोटिस देकर 24 घंटे में बीएसएफ से अलग अलग बाते कहे जाने पर स्पास्टि कारण प्रमाण पत्र लेकर आने को कहा था। नामांकन प्रकिया स्पस्ट न होने पर निर्वाचन अधिकारी ने ये अहम कदम उठाया।

तेज बहादुर ने भारतीय जनता पार्टी पर थोपा, अपनी गलती नही मानी। भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाते हुए तेज बहादुर यादव ने कहा कि उन्हें विरोधी चुनाव मैदान में नही उतारने दे रहे है। हमे लोकसभा चुनाव लड़ने से रोक रहे है। कुछ अधिकारी भारतीय जनता पार्टी के उंगलियों पर नाच रहे । जैसा वो कहते है वही होता है। आखिरी समय मे मुझसे निलंबित होने कारण जाना जा रहा है।



News Agency ANI tweets, ‘Samajwadi Party candidate Tej Bahadur Yadav after his nomination from Varanasi parliamentary seat was rejected: We have been told that we did not produce the evidence that was asked from us before 11 am. Whereas, we had produced the evidence.’

तेज बहादुर पर नोटिस जारी कर सपना स्पास्टि कारण पूछा गया था। उनको इसके किये समय भी दिया गया।स्पास्टि कारण न होने पर इस मुद्दे पर वाराणसी के जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेन्‍द्र सिंह ने तेज प्रताप यादव को नोटिस भी दिया और 1 मई को सुबह 11 बजे तक का रखा गया था।

सुरेन्‍द्र सिंह ने तेज बहादुर से अपने बातों का स्पास्टि कारण के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्णायक साक्ष्‍य प्रस्‍तुत करने का आदेश दिया था। तेज बहादुर को 1 मई बुधवार को सुबह 11 बजे तक दिल्ली स्थित भारत निर्वाचन आयोग से प्रमाण पत्र बनवाकर पेश करना होगा। लेकिन वो ये सब करने में सफल दिखाई नही दिये।



Rajesh Gupta, Tej Bahadur Yadav’s lawyer: We had submitted the evidence that was asked from us. Still, the nomination was declared invalid. We will go to the Supreme Court.

Share This Post
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *