Home > Leaks > कांग्रेस नेता ने कहा कि अल्पसंख्यकों को प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह को जान से मार देना चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि अल्पसंख्यकों को प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री अमित शाह को जान से मार देना चाहिए।

Spread the love

Image Credits: ANI on Twitter




CAA के ख़िलाफ़ कई देशों में विरोध-प्रदर्शन हो रहा हैं और प्रदर्शनकारियों ने विरोध जे चलते कई हिंसा को भी अंजाम दिया है। प्रदर्शनकारियों ने कई देशों में बहुत अधिक नुकसान पहुचाया है। तमिलनाडु के एक लेखक और कॉन्ग्रेस नेता नेल्लई कन्नन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री को लेकर ऐसी आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी, जिससे बाद उनको पेरांबलूर से हिरासत में ले लिया गया है।

कन्नन को अरेस्ट करने के लिए भाजपा जमकर विरोध-प्रदर्शन कर रही थी। जानकारी के मुताबिक कन्नन के ख़िलाफ़ 15 से अधिक केस दर्ज किए गए हैं। तमिलनाडु पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा-504, 505, 505(2) के अंतर्गत एफआईआर दर्ज की है। कुछ दिन पहले सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया ने CAA के विरोध में मीटिंग बुलाई थी।



इस मीटिंग में कई बड़े नेताओं ने हिस्सा लिया। कांग्रेस नेता नेल्लई कन्नन ने एक भाषण दिया था। भाषण देते हुए उन्होंने नागरिकता संशोधन क़ानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध में कई आपत्तिजनक टिप्पणियाँ की थी। इस दौरान नेल्लई कन्नन ने भड़काऊ भाषण देते हुए मुस्लिमों को कहा था कि अल्पसंख्यकों को प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह को जान से मार देना चाहिए।

उन्होंने अपने भाषण में कहा कि पूरी आशा जताई जा रही थी कि कोई प्रधानमंत्री और गृह मंत्री शाह को जान से मार देगा। लेकिन किसी ने ऐसा करने की हिम्मत ही नही की। गिरफ़्तार किए गए लेखक कन्नन ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शंडयंत्र के पीछे अमित शाह का हाथ है और दोनों में से किसी एक अंत होना चाहिए, लेकिन अभी तक ऐसा सम्भव नहीं हुआ है।




इस प्रकार के आपत्तिजनक भाषण पर भाजपा ने सख्त विरोध जताया। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव एच राजा ने तमिलनाडु पुलिस से कन्नन के विरोध कड़ी कार्रवाई की माँग की। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, कांग्रेस नेता नेल्लई कन्नन ने अपने भाषण में प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को जान से मारने के लिए मुसलमानों को भड़काया है। मैंने तमिलनाडु पुलिस के महानिदेशक से Online भी मामला दर्ज किया है। मैं तमिलनाडु सरकार से तुंरत एक्शन लेने की अपील करता हूँ।

अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, कन्नन ने न केवल प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के ख़िलाफ़ विशेष समुदाय के लोगो को भड़काया है, बल्कि उन्होंने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को खत्म करने की बात भी कही है। कन्नन कुछ ऐसा करना चाहते हैं जैसा तमिलनाडु में राजीव गाँधी के साथ हुआ था।

नेल्लई कन्नन के आपत्तिजनक भाषण के ख़िलाफ़ भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने बुधवार को चेन्नई के मरीना के बीच पर गाँधी मूर्ति के समीप बैठकर तमिल लेखक को अरेस्ट करने के धरना दिया था। इसमें भाजपा के चार वरिष्ठ नेता एल गणेशन, पोन राधाकृष्णन, एच राजासीपी राधाकृष्णन भी उपस्थित थे।

नागरिकता संशोधन क़ानून का मतलब लोगो को गलत बताया जा रहा है 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफ़ग़ानिस्तान से आए विशेष समुदाय के शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने की बात करता है। यह उन लोगों पर लागू होता है, जिन्हें धर्म के आधार पर पीड़ा पहुचाई जा रही थी, जिनपर धर्म को लेकर अत्याचार किया जा रहा था।

नागरिकता के लिए एक तारीख तय की गई 31 दिसंबर, 2014 है, जिसका मतलब है कि आवेदक उस तारीख को या उससे पहले भारत में प्रवेश कर चुका हो। ये सभी लोगो को समझना चाहिए आधी अधूरी बातों में आकर विरोध करना सही नही है।



Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *