Home > India > अनोखा अंदाज़ वायरल, शादी के कार्ड में Rafale का सच छापा और उपहार में इन्हे वोट देने की अपील की इस जोड़ी ने

अनोखा अंदाज़ वायरल, शादी के कार्ड में Rafale का सच छापा और उपहार में इन्हे वोट देने की अपील की इस जोड़ी ने

MarriageCardRafale SuratCoupleMarriage
Spread the love





आपने लोगो को शादी और पार्टी में नए नए और अनोखे अंदाज़ अपनाते हुए देखा होगा और दूल्हा-दुल्हन की अजीब एंट्री भी देखि होंगी. अब एक और चलन चल निकला है की कुछ लोग अपने शादो के इनविटेशन कार्ड में अपनी पसंदीदा राजनैतिक पार्टी को वोट देने की अपील करते हैं और इसको बहुत इंजॉय भी करते हैं. किन्तु गुजरात के सूरत शहर की एक जोड़ी तो इससे भी आगे निकल पड़ी.

सूरत ले रहने वाले एक युगल ने अपनी शादी के इनविटेशन कार्ड में ना सिर्फ अपनी पसंदीदा पार्टी को वाते देने की अपील की बल्कि कार्ड ले पीछे कुछ ऐसा छपवा दिया की देखने वालो के होश ही उड़ गए. असल में सूरत में रहने वाले एक युवक युवराज पोखना (Yuvraj Pokharna) का विवाह साक्षी नामक युवती से २२ जनवरी 2019 को हो रहा है. इस उपलक्ष में युवराज ने अपने ट्विटर अकाउंट से अपना कार्ड ट्वीट किया और मित्रो को इनविटेशन दिया. बस यह अनोखा शादी का कार्ड ज़बरदरत वायरल हो रहा हैं और लोग इसे बहुत पसंद कर रहे हैं.




युवराज और साक्षी के शादी कार्ड में जहाँ शादी समारोह का वर्णन सिलवासा ले एक रिसोर्ट में होने की जानकारी दी गई है, तो वही नीचे अपील की गई है की नमो एप्प पर अपनायोगदान दे और 2019 में मोदी जी को वोट देकर विजय बनाये, यही उपहार होगा.

यहाँ तक तो मामला ठीक था किन्तु यह सूरत वाली जोड़ी एक कदम और आगे निकल गई और शादी के कार्ड के पीछे रफाल डील विवाद की पूरी कहानी ही बयां कर दी. कार्ड के पीके वाले हिस्से में २ लड़ाकू विमान राफेल बने है और राहुल गाँधी के सभी आरोपों के साथ साथ उनका सटीक तर्क सहित उत्तर भी लिखा है, जो अभी अभी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने राहुल गाँधी को सदन की बहस में दिया था. साथ ही रफाल डील मामले के पूरी आंकड़े भी दर्शाये गए हैं. कार्ड में लिखा है की Yuvraj and Sakshi Marriage Card Backside Rafale Deal Story full theory as-


Some Facts about Rafale Deal :

1. Even a fool will not compare prices of a simple flyaway Aircraft with a weaponized Jet.

2. The press statement which was issued (after the deal) said it was an inter-governmental agreement. That it would be cheaper than the price which UPA had negotiated.The price (526 crore) which congress quotes, is nowhere in official documents. The inter-governmental agreement obtained aircrafts at Rs. 670 crore each which is 9% lower than 126 MMRCA basic price and that the weaponized aircraft is 20% cheaper.

3. Congress keeps citing Rs. 1.30 lakh crores (the amount of favour). Now it was UPA which decided in 2005 that offset partners in India must get 30-50 percent of total work. Since the total deal is Rs 58,000 crores, it would amount to Rs. 29,000 crores. Dassault has said the business (to Reliance) comes to only 3-4 percent, or only around Rs 800 crores over 10 years. How the figure of Rs 1.30 lakh is cited when the entire deal is only Rs 58,000 crores?

4. The offset was given to 72 companies including DRDO,TATA,Mahindra,L&T,Godrej and many more, in which HAL is also included.

5. UPA itself had refused the contract to HAL. HAL quoted “2.7 higher man-hours”required for the job—so not the only price would’ve escalated but Pakistan and China would’ve gone stronger too.



6. The panels (put together) had 74 meeting,the details of which were submitted to the Supreme Court. SC said it was satisfied with the process.

7. UPA contract provided for 11 years for the delivery of the first batch of Rafale jets. “And they are asking us why no jet has been delivered in 2018 when the contract was signed in 2016.

8. JPC is on matters of “policy” and not on “investigations.” Besides, the JPC is on “partisan party lines.”. For instance,in. Bofors where a hand-picked JPC had termed the bribes given not as “kickback” but as “winding up charges”.

9 .Rahul Gandhi said the French president (Macron) had himself said (about Reliance as offset partner) to him. The French government later denied it.


Rafale Deal Debate Theme Printed Marriage Card of Surat Couple Yuvraj and Sakshi.

अभी सोशल मीडिया पर बधाई देने वालो का तांता लगा हुआ है और लोग जमकर इस अनोखे कार्ड को सांझा कर रहे हैं. निखिल दादिच लिखते हैं की सूरत के युगल ने रॉफेल की सच्चाई लोगों तक पहुंचाने के लिए रॉफेल की थीम पर बनाया शादी का कार्ड। लोगो से उपहार के बदले की मोदी जी को वोट देने की अपील। आपने सराहनीय कार्य किया है @i_m_yuvraj भाई.




आपको बता दे की जब हमने युवराज से संपर्क किया तो पता चला की युवराज सूरत के रहने वाले हैं और इंजीनियरिंग पासआउट हैं. वे पेशे से एक टेक्निशल शिक्षक है और इंजीनियरिंग के छात्रों यहाँ तक के IIT के छात्रों को पढ़ाने का काम लरते हैं और इस देश के भले और विकास के कार्यो और वार्तालाभ में हमेशा आगे रहते हैं. मतलब देश का युवा ही अब देश को आगे के जाने में पूर्ण रूप से सक्षम हैं.


Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *