Home > Leaks > देश का नाम इंडिया से हटाकर भारत करने वाली याचिका मंजूर हुई, कारण जाने: India To Bharat

देश का नाम इंडिया से हटाकर भारत करने वाली याचिका मंजूर हुई, कारण जाने: India To Bharat

Supreme Court India
Spread the love

Supreme Court Image Credits: ANI

हामरे देश को अलग अलग नाम से जाना और बुलाया जाता है। हमारे देश को कभी इंडिया, तो कही हिंदुस्तान, तो कही भारत कहा जाता है। परन्तु विश्व लेवल पर ऑफिसियल तौर से इंडिया शब्द का इस्तेमान किया जाता है। यह इंडिया (India) नाम हमारे देश को विदेशियों द्वारा दिया गया नाम था। जो वे इस देश को लुटाने के लिए इस्तेमाल करते थे।




उससे पहले 712 ईस्वी के बाद मुस्लिम आक्रमणकारी हमारे देश को हिंदुस्तान (Hindustan) कहा करते थे, क्योंकि इस देश में केवल और केवल हिन्दू ही निवास करते थे। हिन्दू आबादी के कारण इसे हिंदुस्तान कहा जाने लगा था। परन्तु किसी देश का नाम उसके इतिहास और लोकैलिटी के तौर पर रखा जाता है। अतः उससे पहले देश का नाम भारत था और अभी भी है, परन्तु भारत नाम का इस्तेमाल ऑफिसियल रूप से नहीं होता है।

देश के सर्वोच्च कोर्ट सुप्रीम कोर्ट में देश का नाम इंडिया से बदल कर भारत (Bharat) करने के लिए एक याचिका डाली गई है। मीडिया की खबर में याचिकाकर्ता का नाम नमः बताया गया है। नमः के मुताबिक भारत नाम रखने से नागरिको के अंदर अपनी नागरिकता को लेकर गौरव करने की भावना उत्पन्न होगी। अतः असली और इसिहासिक नाम भारत करा जाना चाहिए।

बारे बड़े की मामले की सुनवाई 29 मई को होनी थी परन्तु चीफ जस्टिस बोबडे के उपस्थित न हो पाने के चलते यह सुनवाई टाल दी गई है। अब इस मामले की सुनवाई 2 जून होगी। जिसमे कोर्ट से आग्रह किया गया है कि देश का नाम भारत करने के लिए कोर्ट सरकार को संविधान में बदलाव करने को लेकर आदेश जारी करे।



अभी अभी सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़ उक्त याचिकाकर्ता का मानना है कि ‘इंडिया’ (India) से ‘भारत’ (Bharat) नाम करने पर ब्रिटिश राज के धब्बे से भारत के इतिहास और नागरिको को बाहर निकलने में काफी हद तक सहायता मिलेगी व अपनी नागरिकता पर वह गर्व कर सकेंगे।

Supreme Court to hear on June 2 the petition seeking replacement of word ‘India’ with ‘Bharat’. The petitioner, Namah, has sought a direction to change the English name of country INDIA to BHARAT.



सबसे बड़ी बात तो यह है की भारत के विश्व विख्यात धर्म गिरु सध्गुरु जी ने भी ट्वीटर पर इस याचिका के समर्थन में ट्वीट किया है। सध्गुरु ने ट्वीट में लिखा की भारत में जीवन के अनुभव राग भाव व ताल समाहित है। इस नाम में शक्ति है और यह हमारे अंदर गूंजता है, क्यूंकि इसमें ध्वन्यात्मक महत्व, इतिहास व संस्कृति है। अब इस मामले पर समर्थन करने वालो की होड़ लग रही है।

Saghguru Tweeted that ‘Bharata’ encapsulates Bhava, Raga and Tala, the elements that determine the experience of our Life. The name has power and reverberates within us because of its phonetic significance, history and culture. Nation’s name must instil Pride in its citizens.

आपको बता दे की जब मीडिया ने जानकारों और इतिहासकारों से इस बारे में चर्चा की तो उत्तर मिला की, अगर यह याचिका सफल हो जाती है, तो यही भारतीयों की असली जीत होगी। पहले मिडिल ईस्ट के मुस्लिम आक्रमणकारियों और फिर ब्रिटिश कब्जेधारियों के दिए गए नाम के स्थान पर हमारे देश का असली नाम भारत ही हमारे देश की असली पहचान है। यह देशवासियों को गौरव का एहसास करवाने में भी कारगर है।



Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *