Home > India > मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी की 15 मिनट के मुद्दे पर चुटकी ले ली, जनता लोटपोट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राहुल गांधी की 15 मिनट के मुद्दे पर चुटकी ले ली, जनता लोटपोट

ShivrajSinghChauhan RahulGandhiFun
Share This Post





भारत में इस वक़्त चुनाव का दौर ज़ारी है और ज़ारी है नेताओं ने बोल और वाद विवाद। इस वक़्त पुरे देश में भाजपा का पलड़ा मोदी लहर में भारी है।ऐसे में विपक्ष और कांग्रेस पूरी कोशिश कर रहे हैं की हारे हुए राज्य आने वाले विधानसभा चुनाव में वापस हासिल किये जा सकें और कर्नाटक जैसे राज्य हाँथ से निकल ना जाएँ।

इसी कड़ी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्णाटक चुनाव के अपने अभियान के दौरान प्रधानमन्त्री मोदी जी को टारगेट करते हुए कहा था की मोदी जी की 15 मिनट राहुल गांधी से डिबेट करा दो तो मोदी जी वहाँ पर खड़े नहीं हो पाएंगे। राहुल गांधी के इस बयान पर लोगो ने सोशल मीडिया पर कांग्रेस और राहुल गांधी को घेरा और राहुल गांधी की काबिलियत और ज्ञान पर सवाल उठाये।

अब मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भी एक दंगल पर उतर आये और राहुल गांधी की चुटकी ले डाली। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा की कुछ लोग 15 मिनट क्या, 15 साल भी लगातार बोलें तो भी उनके अलावा किसी को समझ नहीं आएगा।



अब नाम लिये बिना आसमझों को कैसे समझाना है ? यह भारत के दिल मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अच्छे से आता ही है। आपको बता दें की शिवराज चौहान जी का मतलब राहुल गांधी के 15 मिनट बोलने वाले बयान से था की ‘राहुल गांधी 15 साल तक भी लगातार बोलेंगे तो उनके खुदके अलावा और किसी को समझ में नहीं आएगा।’

इधर प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी ने भी अपने एक चुनावी भासन में राहुल गांधी का एक नामकरण करते हुए कहा की “अरे मोदी जी को छोड़ो नामदार, इस कामदार की क्या है? मोदी जी तो कामदार हैं पर इस चुनाव अभियान में एक काम करो की कर्णाटक में आपको जो भाषा पसंद हो हिंदी बोल सकें तो हिंदी, अंग्रेजी बोल सकें तो अंग्रेजी और आपकी माता जी की मातृभाषा बोल सकें तो वो। आप कर्नाटक में हाँथ में कोई कागज़ लिए बिना आपकी कर्णाटक कांग्रेस सरकार की उपलब्धिया 15 मिनट बता दें। एक छोटा काम और कर देना, उस 15 मिनट के भासन के दरमियान कम से कम 5 बार श्रीनिवासन विश्वेश्वरैया जी का नाम ले लेना।

आपको बता दें को कुछ दिन पहले कर्णाटक में एक स्पीच के दौरान राहुल गांधी श्री विश्वेश्वरैया का नाम नहीं बोल पा रहे थे। डॉ मोक्षगुंडम श्रीनिवासन विश्वेश्वरैया भारत के पहले इंजीनियर थे और उनके द्वारा बाँध, पुल और रेल मार्ग व् पटरिया बनाई गई। उन्होंने आधुनिक भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। भारत के निर्माण में उनके योगदान को देखते हुए उन्हें साल 1955 में देश के सर्वोच्च सम्मान ‘भारत रत्न’ से अलंकृत किया गया।

Share This Post
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *