Home > India > उत्तरप्रदेश पुलिस ने भगवान के रूप में आके भयंकर आग के बीच कूदकर बचाई इतने लोगो की जान।

उत्तरप्रदेश पुलिस ने भगवान के रूप में आके भयंकर आग के बीच कूदकर बचाई इतने लोगो की जान।

Raebareli Police On fire
Spread the love

Image Credits: Raebareli Police on Twitter




नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन को लेकर हुए उपद्रह में उत्पातियों ने अपने आपको बचाने के लिए, पुलिस को इसका जिम्मेदार ठहराने में लगे हुये है। अपने इस एजेंडा को सफल बनाने के लिए कई तरकीब निकाल रहे है। इसी कड़ी में एक ऐसी बात सामने आई जो इन सब बातों को एक ही पल में खारिज कर देती है।

इस बीच रायबरेली से ऐसी फ़ोटो सामने आई है जो यह साबित करती है कि यह वही पुलिस है, जो आग में फसे लोगो अपनी जान की परवाह किये बिना उनको घर से बाहर निकालने का काम का कर रही है। लेकिन उपद्रह इनके खिलाफ एजेंडा चला रहे है की आगजनी करने वालों से बदसलूकी की। पुलिस आग में फसे लोगों के लिए जान पर खेलकर उनकी रक्षा करती है।



नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुआ उपद्रह के दौरान पुलिस को आक्रोश भीड़ के सामने खड़ा करके उनके खिलाफ बदसलूकी का मामला दर्ज करने की बात सामने आई। जब पुलिस ने उपद्रह को बढ़ावा देने के खिलाफ कदम उठाया, तो एक समूह पुलिस के सामने खड़ा हो गया। उत्तरप्रदेश पुलिस को बदनाम करने की प्लांनिग के तहत सोशल मीडिया पर कई हथकंडे अपनाए जा रहे है।


Raebareli Uttar Pradesh Police has safed many people between fire.

रायबरेली से पुलिस की ऐसी फ़ोटो सामने आई है, जो पुलिस के खिलाफ मुहिम चलाने वालों के मुंह मे करारा तमाचा है। पुलिस के इस सराहनीय काम की तारीफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी की है। उन्होंने कहा था, जब दिल्ली की मंडी में आग लगी थी, तब पुलिस वालों ने बिना अपने जान की परवाह किये हुए लोगों को आग से बचाया था। जिन पुलिसकर्मियों ने तुम्हारी जान को नई जिंदगी दी, उन्हीं पर पत्थर बरसा रहे हो?




यह बात रायबरेली के ताजा मामला के घोसियाना इलाके का है। यहाँ बिल्डिंग के नीचे वाले ब्लॉक में आग लग गई। आग बेकाबू होकर तेजी से फैलने लगी। इस बिल्डिंग की तीसरी मंजिल में कुछ लोग फस गए थे। आग की चपेट में आने लगे थे। इसमे एक साल का बच्चा भी शामिल था। देखते ही देखते यहाँ आग बढ़ने लगी, आग इतनी बढ़ गई थी कि लोगो का यंहा से बाहर निकलना असम्भव हो गया था।

इस माहौल को बढ़ता देख एक दारोगा विनोद सिंह ने अपनी जान को जोखिम में डालते हुए पड़ोस के एक घर से उस बिल्डिंग की ख़िड़की तोड़ कर अंदर घुस गए। बिल्डिंग में फंसे लोगों को एक एक कर धीरे धीरे बाहर निकाला। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जिस बिल्डिंग में आग लगी वह निर्मल कुमार गुप्ता की है। उनकी कपड़े की दुकान हैं। उनकी कपड़े की दुकान उनकी बिल्डिंग के सबसे नीचे वाले ब्लाक में थी।

कपड़े का गोदाम भी उनकी बिल्डिंग के 2 ब्लाक पर बना हुआ था। लेकिन रविवार को दुकान में आग लग गई। जो देखते ही देखते इतनी बढ़ गई कि बिल्डिंग के ऊपर वाले ब्लाक में रह रहे लोगो का बाहर निकलना असंभव हो गया था। पुलिस को इस घटना की सूचना दे दी गई थी, आग पर काबू पाने के लिए अग्निशमन के कर्मचारियों के साथ आग को काबू करने का काम शुरू हो गया था, लेकिन आग बेकाबू होते जा रही थी।

उनके पास बाहर निकलने के सारे रास्ते बंद हो गए थे। उन्होंने अपनी जिंदगी से हार मान ही लिया था कि इतने में भागवान का रूप धर दरोगा वंहा पहुच गए। इसी बीच पुलिस ने सीढ़ियों की उपयोग किया। थानेदार विनोद सिंह ने सीढ़ियों की सहायता से बिल्डिंग के उस ब्लाक में घुसकर बिना किसी हानि के सबको सुरक्षित वापस निकाल लिया। आग किस वजह से लगी थी इसकी जानकारी अभी नही पता चल पाई है।


Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!