Home > India > श्री श्री रविशंकर के खिलाफ पोर्टल की रिपोर्टिंग का खुलासा, ऐसे दिखाया झूठ को सच, देखें वीडियो

श्री श्री रविशंकर के खिलाफ पोर्टल की रिपोर्टिंग का खुलासा, ऐसे दिखाया झूठ को सच, देखें वीडियो

TheQuint QuintFakeNews Uploaderleaks
Share This Post

दिल्ली ! जैसे 70 के दशक मे हरित क्रांति आई और देश मे बदलाव लाई, ठीक वैसे ही एक और क्रांति अभी चल रही है वा है इंटरर्नेट और सोशल मीडीया की क्रांति। इस ऑनलाइन वाली क्रांति ने भारत ही नही बल्कि पूरी दुनिया की पत्रकारिता के मायने ही बदल कर रख दिए हैं। आज के इंटरनेट युग मे सुबह किसी वाइरल खबर से होती है और शाम किसी वाइरल वीडियो पर ख़तम। मीडीया ने भी अपने मकसद पूरे करने के लिए इंटरनेट और सोशल मीडीया का सहारा लेना शुरू कर दिया।

ऐसे में कुछ मीडीया पोर्टल देश विरोधी और सरकार विरोधी ताकतों की सह पर भी काम कर रहे हैं और झूठी रिपोर्टिंग तथा फेक वीडियो के माध्यम से पत्रकारिया की मर्यादा को तार-तार कर रहे हैं। ऐसी ही एक झूठी और एकतरफ़ा मीडीया रिपोर्टिंग का मामला सामने आया है। दी क्विंट नामक ऑनलाइन मीडीया के यू-ट्यूब चेनल पर एक वीडियो 12 मई 2018 को उपलोड किया गया और इसी वीडियो पर क्विंट की न्यूज़ वेबसाइट पर न्यूज़ लेख भी प्रकाशित किया गया।



वीडियो मे 13 मई को आध्यात्मिक गुरु और ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ के फाउंडर ‘श्री श्री रविशंकर’ जी को जन्मदिन की बधाई देते हुए उन पर किसानो की ज़मीन और फसल खराब करने के झूठे दावे किए गये।

वीडियो में ‘श्री श्री रविशंकर’ जी को ट्रोल करते हुए 2 कथित किसानों के डॉक्टर्ड (Edited) वीडियो दिखाए गये। ये वीडियो क्लिप एक महिला ‘हार्वती’ और एक पुरुष ‘शुखबीर सिंग’ की थी, जिसमे उनको यह बोलते दिखाया गया की आर्ट ऑफ लिविंग द्वारा मार्च 2016 को हुए वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल ( World Culture Festivel ) की वजह से उसकी ज़मीन बंज़र हो गई है और छीन भी ली गई है। इस मुद्दे पर पोर्टल ने सीधा निशाना आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा।

इस पर OpIndia नामक मीडीया पोर्टल ने इस झूठी पत्रकारिता पर एक लेख भी लिखा 18 मई 2018 को। इसके ज़वाब मे 21 मई को क्विंट ने लेख लिखा की ओपिंडिया को सच को मानना चाहिए और वीडियो मे दोनो किसानों के बयान को कोई नही नकार सकता है।

इस मुद्दे पर हमने अपनी टीम ( Uploaderleaks ) को दिल्ली के पास वही यमुना किनारे भेज़ा और कथित किसान ‘हारवती’ और ‘शुखबीर सिंग’ को खोज़ कर उनसे बात की और सच जाना तो हमारी टीम के होश ही उड़ गये। पोर्टल ने अपने ग़लत मकसद को पूरा करने के उद्देश् से हार्वती और शुखबीर सिंग को बड़ी ही चालाकी से विरोधी शब्द बुलवा लिए और जब उन्होने और जानकारी दी तो वो वाला वीडियो का पार्ट काट दिया गया। वीडियो पे हेर-फेर करने का आरोप खुद उसी ‘शुखबीर सिंग’ ने पोर्टल का नाम लेते हुए लगाया।

आपको बता दें की हमे दिए इंटरव्यू मे हार्वती और शिखबीर के अलावा बाकी किसानो ने भी एक ही बात बताई की श्री श्री रविशंकर के वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल 2016 ( World Culture Festivel 2016 ) की वजह से कोई नुकसान नही हुआ और नाही ज़मीन बंज़र हुई। ज़मीन तो जस की तस है। बल्कि यह ज़मीन सरकारी है और अब सरकार मुआवज़ा देकर ज़मीन वापस अधिग्रहण कर रही है।



आर्ट ऑफ लिविंग ने यह ज़मीन वर्ल्ड कल्चर फेस्टिवल 2016 (World Culture Festivel 2016) के लिए सरकार (DDA) से किराये पर ली थी और पूरा भुगतान भी कर दिया। ऐसे मे जो लोग वहाँ खेती कर रहे थे उन्हे सरकार (DDA) मुआवज़ा देकर सरकारी ज़मीन पर अब काम करने से रुक रही है।

किंतु क्विंट पोर्टल ने एकतरफ़ा पत्रकारिता करते हुए श्री श्री रविशंकर और आर्ट ऑफ लिविंग को बदनाम करने की मंशा से यह ग़लत रिपोर्टिंग कर वीडियो मे काट-छांट की। यह कहना है उन्ही कथित किसानों का जिनके वीडियो पर पोर्टल द्वारा दावे किए जा रहे थे। हमे और क्या क्या बताया उन कथित किसानों ने यह नीचे दिए वीडियो ने देखें-

वीडियो देखने के बाद सच और झूठ का अंदाज़ा तो आप लगा ही लेंगे की पोर्टल ने कितनी चालाकी से फेक न्यूज़ नाबाई, चलाई और वाइरल भी की। आपको बता दें की यह क्विंट नामक मीडीया पोर्टल पहले भी ग़लत और फेक न्यूज़ के लिए विवादों से घिर चुका है।

पहले पाकिस्तान मे बंद भारतीय नागरिक कुलभूसन जादव पर ग़लत न्यूज़ के चलते बबाल हुआ और इससे पहले क्विंट के एक स्टिंग वीडियो के कारण एक भारतीय फ़ौज़ी ज़वान ने आत्महत्या कर ली थी। फ़ौज़ी की आत्महत्या के बाद क्विंट के यू ट्यूब चेनल से वीडियो डेलीट (Delete) कर दिया गया था। मतलब एक फ़ौज़ी ज़वान की मौत का ज़िम्मेदार भी यह मीडीया पोर्टल और इसके वीडियो हैं।

हमारा मकसद किसी की बुराई करना या किसी को ग़लत बताना नहीं है किंतु हम झूठी और ग़लत जानकारी की पोल ऐसे ही खोलते रहेंगे ताकि पाठकों को भ्रमित होने से बचाया जा सके।

Share This Post
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *