Home > Gajab > मैसूर में नंदी देव की प्राचीन मूर्ति ज़मीन से फट पड़ी, चगल रहा था खुदाई का काम

मैसूर में नंदी देव की प्राचीन मूर्ति ज़मीन से फट पड़ी, चगल रहा था खुदाई का काम

Nandi Statue Found Mysore
Spread the love





Mysore, Karnataka: कल से महादेव का महीना प्रारम्भ हो गया है। सावन के प्रारम्भ होते ही शिव के चमत्कार देखने को मिलने लगे है। ये शिव चमत्कार कर्नाटक के मैसूर में हुआ है। मैसूर के पास एक सूखी झील में खुदाई के वक्त सैकड़ों साल पुरानी भगवान शिव की सवारी नंदी बैल की दो मूर्ति मिली हैं। लोगों ने नंदी महाराज की सैकड़ो साल पुरानी विशाल मूर्ति (Ancient Nandi Statue) देखकर लगाए हर-हर महादेव के जयकारे।

मीडिया की खबरो के अनुसार मैसूर से करीब 20 किमी दूर बसे अरासिनाकेरे की एक झील जो सदियों से सूखी पड़ी है जिसकी खुदाई के वक्त नंदी बैल की सदियों पुरानी मूर्ति का यह जोड़ा मिली है। गांव के लोगो ने कहा है कि खुदाई करके प्रतिमाओं को बाहर निकालने का काम यहां के स्थानीय नागरिकों ने मिलकर किया है।

सूत्रों की खवरो के मुताविक अरासिनाकेरे के वृद्ध आदमी इस झील में नंदी की मूर्ति होने का दावा करते थे। गाँव के वृद्ध आदमी ने बताया कि जब कभी झील में पानी का लेवल कम होता था, तो बताया जाता था कि मूर्ति का सिर दिखाई देता था है। इस वर्ष नदी के पूरे तरह से सूख जाने के बाद गांव में रह रहे लोगो ने इस स्थान पर खुदाई करके सच को जानने का विचार बनाया।



फिर गाँव के लोगो ने मिलकर झील की तीन से चार दिनों तक खुदाई की। गाँव के लोगो ने अच्छी तरह से खुदाई के लिए जेसीबी मशीन भी बुलवाई। जिससे सच की पुष्टि हो सके। करीब चार दिनों तक लगातार चली खुदाई के बाद झील की जमीन के नीचे मलवे में दबी नंदी बैल की मूर्ति को बाहर निकाल लिया गया है।

इस बात की खबर मिलते ही पुरातत्व विभाग के अफसरों की एक टीम भी वहां आ गई थी। पुष्टि की जा रहा है कि ये जो प्रतिमाएं है वो विजयनगर काल के बाद की हैं। यह लगभग 16 वीं या 17 वीं शताब्दी की हो कही जा सकती हैं।


Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!