Home > India > पाक नेता मेहबूबा मुफ्ती ने कश्मीर को Palestine बताया, तो PM मोदी ने इजराइल को बुलाया

पाक नेता मेहबूबा मुफ्ती ने कश्मीर को Palestine बताया, तो PM मोदी ने इजराइल को बुलाया

Share This Post





जम्मू कश्मीर की पूर्व सीएम व पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती के एक बार फिरसे बोल बिगड़ गए हैं। मुफ़्ती ने कहा है कि अगर अमित शाह जम्मू कश्मीर में Article 370 खत्म करोगे तो यह जम्मू कश्मीर में हिंदुस्तान के कब्जे जैसा होगा। ठीक वैसे ही जैसे फिलिस्तीन में इजरायल का कब्जा है।

अभी अभी लोक सभा 2019 का चुनाव का पर्चा भरने के बाद महबूबा मुफ़्ती ने कहा की आप अनुच्छेद 370 को हटाने की तारीख बताइए फिर हम आपको अपनी तारीख दे देंगे। मानो कोई पाकिस्तान के नेता की भारत को धमकी हो। अगर इस वक़्त मेहबूब मुफ़्ती को पाकिस्तान का नेता भी मान लिया जाये तो वह गलत नहीं होगा, क्योंकि अपने पाकिस्तान परस्त आतंक और अलगाववादी समर्थक बयानों के कारण विवाद का विषय बनी PDP अध्यक्ष व जम्मू-कश्मीर की पूर्व CM महबूबा मुफ़्ती ने सीधे तौर पर भारत के विभाजन की घमकी दे दी है।



इस पर जम्मू कश्मीर के अलावा पूरे देश में कड़ी प्रतिक्रिया दी जा रही है। मुफ़्ती ने अनंतनाग संसदीय सीट के लिए नामांकन का पर्चा भरने के बाद यह पाकिस्तान परास्त बयान दिया और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को चुनौती देते हुए कह दिया कि आप आर्टिकल 370 को समाप्त करने की तारीख बताइए, उसी दिन हमारा हिंदुस्तान से रिश्ता भी खत्म हो जाएगा।

महबूबा मुफ़्ती द्वारा जम्मू कश्मी की तुलना Palestine से किये जाने पर जब हमने एक पार्क में बैठे लोगो से बात की तो समीर माहेश्वरी नामक यूजर ने बताया की अगर मेहबूबा कश्मीर को Palestine कह रही है तो अच्छा है, क्योंकि भारतीय PM मोदी जी की इजराइल और इस्राइली PM (Israeli PM Benjamin Netanyahu) से अच्छी मित्रता है. कश्मीर को पलेस्टाइन बताने पर मोदी जी को इजराइल सेना को बुला लेना चाहिए.




इससे पहले भी महबूबा मुफ़्ती चेतावनी दे चुकी हैं कि आर्टिकल 370 समाप्त होने के बाद तिरंगा थामने वाला नहीं होगा। यह सीधे तौर पर देश विरोधी और देशद्रोही बयान हैं। इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था की अनुच्छेद 370 और 35A को 2020 तक समाप्त कर दिया जायेगा। इस पर मुफ़्ती का कहना था की अगर 2020 अनुच्छेद 370 को हटाने की डेडलाइन है तो वही भारत और जम्मू कश्मीर के साथ रिश्ते की डेडलाइन होगी।

जम्मू कश्मीर में अपनी सभाओं में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अलगाववादी समर्थक दाल और नेताओ को सीधे तौर पर आगाह कर दिया था। शाह ने कहा था कि दो प्रधानमंत्री का सपना कभी पूरा नहीं होने देंगे। उन्होंने नेशनल काफ्रेंस और पीडीपी के साथ कांग्रेस को भी निशाने पर के किया था।

असल में उमर अब्दुल्ला कहा था की 35A को मत छुएं, वरना जम्मू कश्मीर में एक और प्रधानमंत्री बनाना पड़ेगा। इस पर शाह ने पूछा था की क्या उमर कश्मीर में दूसरा PM बना देंगे? शाह ने स्पष्ट कह दिया तयह की उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ़्ती और राहुल बाबा कान खोल कर सुन लें कि जम्मू कश्मीर में अलग प्रधानमंत्री बनाने का उनका सपना भाजपा के रहते कभी पूरा नहीं होगा।


Note – असल में सोशल मीडिया पर लोग महबूबा मुफ़्ती को पाकिस्तानी और अलगाववादी नेता कहकर ट्रोल कर रहे है, तो हमें भी आर्टिकल में उन्हें पाकिस्तानी लिखना पड़ा, इसमें बुरा मानने वाली कोई बात नहीं है। आखिर मेहबूबा का बयान पाकिस्तान में काफी पसंद किया जा रहा है।

Share This Post
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *