Home > India > मीडिया चैनल की ‘राम रहीम’ केस पर भ्रामक पत्रकारिता उजागर, पहले भी ऐसी हरकत की थी

मीडिया चैनल की ‘राम रहीम’ केस पर भ्रामक पत्रकारिता उजागर, पहले भी ऐसी हरकत की थी

RamRahimHindiNews NDTVFalseNews
Spread the love





आज भारत के सोशल मीडिया पर राम रहीम टॉप ट्रेंड पर हैं। डेरा सच्‍चा सौदा का गुरमीत राम रहीम को पंचकूला कोर्ट द्वारा एक अन्न केस में दोषी करार दिया गया है। हरयाणा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के केस में पंचकूला की विशेष सीबीआइ अदालत ने गुरमीत राम रहीम सहित चार आरोपिताें को दोषी करार दे दिया है। अब कोर्ट इस मामले में सजा पर फैसला 17 जनवरी को सुनाएगी। गुरमीत राम रहीम इस वक़्त दुष्‍कर्म मामले में रोहतक की सुना‍रिया जेल में 20 साल कैद की सजा काट रहा है।

इस केस में फैसला सुनाए जाने से पहले अन्न दोषियों कृष्ण लाल, कुलदीप और निर्मल सिंह को अदालत के समक्ष पेश किया गया किन्तु गुरमीत राम रहीम को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सुनारिया जेल से ही पेश किया गया था। इस वक़्त पंचकूला के पूरे अदालत परिसर की पुलिस ने अच्छी घेराबंदी कर रखी थी। कोर्ट परिसर और आसपास के क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात रहा।




आपको बता दे की 24 अक्टूबर 2002 को सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति को 4 मार दो गई थी और 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में रामचंद्र छत्रपति ने आखिरी सांस ली थी। असल में, सबसे पहले साध्वी के शोषण मामले में इन्ही पत्रकार रामचंद्र ने अपने अखबार में साध्वी का पत्र प्रकाशित पर राम रहीम के काले कारनामे उजागर किये थे।

आरोप है कि, इसके बाद राम रहीम ने पत्रकार छत्रपति को पर हमला करवा दिया था। खबरों के अनुसार पत्रकार रामचंद्र छत्रपति ने ही सबसे पहले गुरमीत राम रहीम के खिलाफ उस समय के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को लिखी पीडि़त साध्वी की चिट्ठी छापी थी। तभी से राम रहीम का अपराधी वाला चेहरा सामने आना चालु हुआ था।



90 के दशक में पत्रकार रामचंद्र को यह अनुभव होने लगा था कि उनके atricles को अखबार बाहरी दबाव और लालच के चलते छापने से आना कानि करते थे। तब रामचंद्र अपना ही अखबार निकालने और सञ्चालन करने का फैसला किया। फिर भारी म्हणत के बाद रामचंद्र ने 2002 में हरियाणा के सिरसा से अपना अखबार ‘पूरा सच’ शुरू कर दिया। इसी अख़बार पर रामचंद्र की छापी न्यूज़ और पीड़ित साध्वी के पत्र से राम रहीम ला साम्राज्य हिल गया और उसने पत्रकार रामचंद्र पर हमला करवा दिया था।

आज कोर्ट द्वारा दोषी करार दिए राम रहीम को एक मीडिया चैनल ‘NDTV’ की वेबसाइट पर ‘Godman’ कहकर बताया जा रहा हैं। Godman मतलब भगवान् का भक्त या इस्वर का दूत होता है। जबकि राम रहीम सिर्फ और सिर्फ एक अपराधी है फिर उसे धर्म से जोड़ना सरासर गलत है, और वैसे भी राम रहीम किसी भी धर्म को फॉलो नहीं करता था। राम रहीम का बस एक ही धर्म था जो हवस और अपराध के पथ पर था।




आप नीचे चैनल की वेबसाइट की दोहरी पत्रकारिता देख कर अंदाज़ा लगा सकते हैं।

राम रहीम को जैसे सम्मानजनक शब्द से सम्बोधित करने पर मीडिया चैनल को लोग जमकर घेर रहे हैं और कह रहे हैं की उसे दोषी, अपराधी या कुछ और कहने के बजाये धर्म को बीच में लाना कहा तक जायज है? पहले भी यह मीडिया चैनल अपनी डिहरी और ख़राब पत्रकारिता की वजह से घिर चूका है और इस पर प्रतिबन्ध भी काग चूका है फिर बाद में प्रतिबन्ध वापस ले लिया गया था।

Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!