Home > India > कारगिल युद्ध में इन दो मुस्लिम कंपनी ने सेना को जूते देने से मना किया था और फिर हुआ ये….

कारगिल युद्ध में इन दो मुस्लिम कंपनी ने सेना को जूते देने से मना किया था और फिर हुआ ये….

uploaderleaks KargilWarStory
Spread the love

POST BY : UPLOADER LEAKS

कारगिल युद्ध 1999 यह नाम हर भारतीय के दिल और दिमाग़ में समाया हुआ है ! हम बात कर रहे हैं सन 1999 में हुए भारत-पाकिस्तान के युद्ध के बारे में, लेकिन वो युद्ध अपने अंदर बहोत से गहरे राज छुपाये हुआ है !

1999 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने पाकिस्तान द्वारा धोखा देकर क़ब्ज़ा कर ली गई कारगिल की चोटियों को वापस प्राप्त करने के लिए पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध का ऐलान कर दिया था, जिसके लिए सैनिको को उँची दुर्गिम पहाड़ियो में जाकर छुपे हुए पाकिस्तानी सैनिको से लड़ना था !

लेकिन उस समय दिक्कत थी की भारतीय सेना के पास 7,8,9,10 नंबर के स्पेशल माउंटेन जूते तो थे लेकिन गोरखा सैनिकों के लिए उससे कम साइज़ के छोटे जूते स्टॉक में नहीं थे !

उस समय भारतीय सेना के जवानों के लिए जूते उत्तर प्रदेश के कानपूर में स्थित कंपनिया बनाया करती थी, इसलिए छोटे जूतों की जरुरत पड़ने पर भारतीय सेना ने इनसे मदत मांगी की हमारा आर्डर जल्द से जल्द पूरा कर हमें दिया जाये !

उस समय ज्यादातर चमड़े कारोबार पर मुस्लिमो का कब्ज़ा था ! इस वजह से सभी कंपनियों ने भारतीय सेना का आर्डर लेने से मना कर दिया ! जिसकी वजह से भारतीय सैनिको को सही जूतों की आपूर्ति नहीं हो पा रही थी !

1999 में जब भारतीय सेना कारगिल में पाकिस्तान से लड़ रही थी, तब कारगिल की पहाड़ियों पर चढ़ने के लिए भारतीय सेना ने जूता बनाने वाली 2 कम्पनियों को स्पेशल माउंटेन जूते (SPECIAL MOUNTAINEERING SHOES) बनाने का ऑर्डर दिया ! यह दो कंपनी थी:-

1. मिर्ज़ा टैनर्स (Partner Company Brand Name – Red Tape)

2. सुपरहाउस टेनरी (Partner Company Brand Name – Lee Cooper)

यह दोनो ही कंपनी मुस्लिम कारोबारियों की थी ! मुसलमानों की इन जूता कम्पनियों ने भारतीय सेना को जूते सप्लाई करने से मना कर दिया था ! ऐसे में हमारे देश की सेना के सामने बड़ी ही जटिल परेशानी आन पड़ी थी !

उस समय कानपुर की ही एक कम्पनी MKU INDUSTRIES जिसके डायरेक्टर श्री नीरज गुप्ता जी थे, तो नीरज गुप्ता और उसके कर्मचारियों ने दिन-रात काम कर एक महीने से भी कम समय में भारतीय सेना के लिए 10000 जोड़ी SPECIAL MOUNTAINEERING SHOES सप्लाई किये ! और फिर उन जूतों का उपयोग करके गोरखा सैनिकों ने कारगिल की दुर्गम चोटियों पर वापिस भारत का झंडा फहराने सफलता हासिल की !

“As the soldiers were being moved to the battle front, we completed the order working day and night before the start of attack. The order was the turning point for our company and our efforts were very much appreciated by the Army after the war,” said MKU MD Neeraj Gupta.

अन्न खबरों और रोचक जानकारियों से अवगत रहने के लिये हमारे फ़ेसबुक पेज को ज़रूर LIKE करें – UploaderLeaks

अपनी प्रतिक्रिया नीचे कॉमेंट बॉक्स मे ज़रूर दें

Facebook Comments

Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!