Home > Leaks > भारत में मई के दूसरे हफ्ते में कोरोना संक्रमण की बाढ़ आने का अंदेशा, इसके लाख लोग हो जायेंगे पॉजिटिव

भारत में मई के दूसरे हफ्ते में कोरोना संक्रमण की बाढ़ आने का अंदेशा, इसके लाख लोग हो जायेंगे पॉजिटिव

Corona In India News Latest
Share This Post

Demo Image




देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। कोरोना वायरस के अब तक 606 केस सामने आ चुके हैं, जबकि 11 लोग अपने प्राण गवा चुके हैं। इस बीमारी COVID-19 से मध्य प्रदेश एक प्राण चले गए हैं। कोरोना से सबसे अधिक महाराष्ट्र और केरल प्रभावित हैं। महाराष्ट्र में 112 और केरल में 105 केस सामने आए हैं। कोरोना के बढ़ते केसों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया है।

कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया के देशों में फ़ैल चूका है। भारत भी इस कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में है। सरकार की ओर से कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। देश में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया है। फिर भी जिस तरह से कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं, ऐसे में वैज्ञानिकों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम की रिपोर्ट ने आशंका जताई है कि मई के दूसरे हफ्ते तक भारत में 13 लाख कोरोना के मामले आ सकते हैं।



मीडिया में आई खबर के अनुसार, भारत में कोरोना के मामलों की स्टडी करने वाले COV-IND-19 स्टडी ग्रुप के रिसर्चर्स ने मौजूदा आंकड़ों का अध्ययन और रिसर्च करने के बाद जारी रिपोर्ट में ये आशंका जताई है। इन शोधकर्ताओं ने जारी रिपोर्ट में कहा है कि भारत ने शुरुआती दौर में कोरोना के मामलों को नियंत्रित करने में इटली और अमेरिका जैसे दूसरे देशों की अपेक्षा अच्छा काम किया है।

हालांकि, हमारा ये अनुमान भारत में शुरुआती चरण के आंकड़ों के आधार पर है। इसमें एक खास बात ये है कि देश में प्रभावित मामलों की असली संख्या स्पष्ट नहीं है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, ऐसा इसलिए है क्योंकि भारत में इसको लेकर टेस्टिंग रेट बेहद कम हैं।


Demo Photo

रिपोर्ट में रिसर्चर्स ने बताया है कि अब तक, भारत में कोरोना टेस्ट किए गए लोगों की संख्या कम है। व्यापक टेस्ट नहीं होने से कम्यूनिटी ट्रांसमिशन की गंभीरता को निर्धारित करना मुश्किल है। मतलब जो टेस्ट की दरें कम होने की वजह से अभी ये अनुमान लगाना बेहद कठिन है कि अस्पताल और हेल्थकेयर सुविधाओं से अलग कितने लोग इस खतरनाक वायरस से संक्रमित हैं। कोरोना से संक्रमित मामलों की पुष्टि इसके टेस्ट से ही स्पष्ट की जाती है।



मीडिया में आई रिपोर्ट में रिसर्चर्स ने कहा है कि हमारे मौजूदा अनुमान भारत में शुरुआती चरण के आंकड़ों के आधार पर सबसे कम आंक रहे हैं। अमेरिका और इटली जैसे दूसरे देशों में भी शुरुआती दौर में ऐसा ही पैटर्न देखा गया था, हालांकि बाद में वहां COVID-19 धीरे-धीर फैलते हुए बहुत तेज हो गया। इन देशों में सामने आए आंकड़े इसके गवाह हैं कि इस कोरोना वायरस ने वहां कितने लोगों को अपनी चपेट में लिया। कोरोना वायरस के कारण दुनिया भर में अब तक 18,915 लोगों अपने प्राण गवा चुके है जबकि 4,22,900 लोग कोरोना संक्रमित हैं।

अगर इस पैटर्न को भारत में फैले कोरोना के पैटर्न से तुलना की जाये तो अभी के हालत के आधार पर मई के दूसरे हफ्ते में लाखों लोग कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं और यह आंकड़ा 10 लाख के पास भी पहुँच सकता हैं। अगर यह 21 दिन के लॉक डाउन को भारत की जनता गंभीरता से नहीं लेती हैं, तो यह आंकड़ा सच साबित हो जायेगा। आने वाले 20-25 दिन बहुत अहम् हैं।


Share This Post
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *