Home > Leaks > उतार के फेख दो ये वर्दी और बहन लो विकास दुबे का पट्टा डायलॉग मुखबिर पुलिसवाले पर फिट बैठता है

उतार के फेख दो ये वर्दी और बहन लो विकास दुबे का पट्टा डायलॉग मुखबिर पुलिसवाले पर फिट बैठता है

Vinay Tiwari
Share This Post

Image: Social Media




Kanpur/Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बिकरू गाँव की घटना के बाद अब UP पुलिस विकास दुबे को खोजने की कोशिश कर रही है। आठ पुलिसवालों के साथ घटना को अंजाम देने के बाद से ही विकास दुबे पुलिस की पकड़ से बाहर है और अब पुलिस ने उसकी पड़ताल भी तेज़ कर दी है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार ने उसके घर को भी JCB से घराशाही कर दिया है, इसके अलावा उसकी गाड़ी को JCB की मदत से पापड़ बना दिया गया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर जिले के चौबेपुर गांव की घटना में अपने प्राण गवाने वाले पुलिसकर्मियों को पुष्पांजलि अर्पित की। उन्होंने रीजेंसी अस्पताल का भी दौरा किया, जहां कुछ अन्न पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है। CM योगी ने वीरगति को प्राप्त पुलिसवालों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपये की अनुग्रह राशि देने और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की और कहा कि कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।



अब सूत्रों से खबर मिल रही है की प्रदेश सरकार ने विकास दुबे की पूरी प्रापर्टी को जप्त करने की तैयारी कर ली है। उसके सारे बैंक अकाउंट्स सीज किए जा रहे हैं। UP प्रशासन विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी की जांच कर रहा है की कितनी वैध और अवैध हैं। इसके अलावा मिली जानकारी के मुताबिक जाँच टीम इस मामले में कुछ पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ कर रही है ताकि ये पता चल सके कि विकास दुबे को पुलिस के आने की खबर कैसे हासिल हुई थी। जिससे वो पहले से ही चौकन्ना हो गया था।

अब सूत्रों से खबर मिल रही है की प्रदेश सरकार ने विकास दुबे की पूरी प्रापर्टी को जप्त करने की तैयारी कर ली है। उसके सारे बैंक अकाउंट्स सीज किए जा रहे हैं। UP प्रशासन विकास दुबे की सारी प्रॉपर्टी की जांच कर रहा है की कितनी वैध और अवैध हैं। इसके अलावा मिली जानकारी के मुताबिक जाँच टीम इस मामले में कुछ पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ कर रही है ताकि ये पता चल सके कि विकास दुबे को पुलिस के आने की खबर कैसे हासिल हुई थी। जिससे वो पहले से ही चौकन्ना हो गया था।

साथ ही जाँच टीम लगभग 500 मोबाइल फोन पर नजर बनाए हुए है, ताकि विकास दुबे के बारे में जानकरी मिल सके। इसके अलावा आईजी ने विकास दुबे के बारे में जानकारी देने वाले के लिए 50 हजार का ईनाम रखा है। आपको बता दे की विकास की जानकारी देने वाली की पहचान गुप्त रखने की बात भी कही है। इसके अलावा इस मामले में अभी तक 12 लोगो से पूछताछ जारी है।



विकास दुबे के कॉल रिकॉर्ड खंगालने के बाद कानपुर एसएचओ विनय तिवारी को ड्यूटी पर लापरवाही बरतने के आरोप में शनिवार को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस अफसर विनय तिवारी पर आरोप हैं कि उसने ही विकास दुबे को पुलिस के आने की सूचना दी थी। विनय तिवारी को विकास दुबे का का करीबी और खसम खास बताया जा रहा है।

हमें एक यूजर ने बताया की अगर किसी पुलिस वाले ने मुखबिरी का काम करते हुए गोपनीय जानकरी विकास दुबे को दी थी, तो उस पर सनी देओल का वह डायलॉग सही बैठता है, जिसमे वे एक भ्रष्ट पुलिस अफसर से कहते है की उतार के फेख दो ये वर्दी और बहन लो बलवंत राये का पट्टा अपने गले में।



आपको बता दे की ओस घटना के बाद जांच में जुटी टीम ने जब विकास दुबे की कॉल डिटेल्स जांची, तो उसमें कुछ पुलिसकर्मियों से बातचीत का मामला सामने आया, इसमें कानुपर के एसएचओ विनय तिवारी का नाम भी सामने आया। जिसके बाद उसको सस्‍पेंड कर दिया गया। जब कानपुर के बिकारू गांव में पुलिस की टीम विकास दुबे के घर पर पहुंची थी, तो इस विकास दुबे ने अपने समर्थकों के साथ आठ पुलिसकर्मियों की पर घटना को अंजाम दिया था।

अब इस केस की पड़ताल के लिए एसटीएफ गठित की गई है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास दुबे की जानकरी देने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम निकाला है। चौबेपुर पुलिस के एसओ से भी पूछताछ की जा रही है। आपको बता दे की बिकरू गांव में विकास दुबे के घर के कुछ हिस्से को पुलिस ने JCB से गिरा दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश के बाद अधिकारियों ने सकती देखते हुए विकास दुबे के घर पर JCB चलवा दी है। बिकरू गांव किसी किले से काम नहीं है। घर के चारों तरफ आंगन के अलावा 12 फुट ऊंची दीवारों पर कंटीली घेराबंदी कराई गई थी। घर में आने-जाने के रास्तों पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं।


Share This Post
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *