Home > India > कठुआ के उस देवस्थान का पूरा सच मीडिया नहीं उपदेश राणा बता रहा है, कठुआ केस पर बड़ा खुलासा

कठुआ के उस देवस्थान का पूरा सच मीडिया नहीं उपदेश राणा बता रहा है, कठुआ केस पर बड़ा खुलासा

UpdeshRana AsifaCaseHindi
Spread the love

कठुआ केस अभी भी अनसुलझा है और सुलझता हुआ दिखाई भी नहीं दे रहा हैं। मीडिया और सोशल मीडिया में तरह तरह की बातें हैं। यह सब एक पक्ष को टारगेट करने के लिए किया जा रहा है। कठुआ की बच्ची हत्या की जांच भी एक तरफ़ा चल रही है। जहाँ कठुआ की बच्ची का शव मिला था वह गाँव है रासना गांव।

रासना गांव के लोग आसिफा केस पर CBI जांच की मांग कर रहे हैं और आरोपी बनाये गये संजीराम ने कहा है की उसका नार्को टेस्ट और लाइ डिटेक्टर टेस्ट करवा लिया जाय। फिर भी जम्मू कश्मीर की मेहबूबा मुफ़्ती सरकार यह सब नहीं करवा रही बल्कि जांच एक तरफ़ा की जा रही है।

मीडिया चैनल ने भी गलत रिपोर्टिंग की और कठुआ की बच्ची की हत्या को मंदिर और देवस्थान से जोड़कर बताया गया। एक तोह उन मंदिर का नाम देवीस्थान बताया गया जबकि असली नाम देवस्थान है। यह नाम बिगाड़कर देवस्थान की जगह देवीस्थान बोलना जानबूझकर षड्यंत्र के तहत हिन्दुओ के खिलाफ जहर उगलना है।

उपदेश राणा पहुँचा कठुआ के देवस्थान में-

कल सोशल मीडिया सनसनी उपदेश राणा ने कठुआ के रासना गाँव पहुँच कर उस देवस्थान मंदिर पर जाकर सही सच बताया और दिखाया। उपदेश राणा ने देवस्थान को पहले बाहर से और फिर अंदर से दिखाया की यहाँ पर कठुआ की बच्ची या किसी को भी बंधक बनाकर नहीं रखा जा सकता हैं।

उपदेश राणा ने आजतक की एंकर अंजना ॐ कश्यप का नाम लेते हुए कहा की अंजना ॐ कश्यप ने बार बार बोला की देवीस्थान मंदिर के गर्वग्रह में कठुआ की बच्ची को रखा गया या मंदिर के तहखाने में बच्ची को रखा गया। यह तब झूट है। देवस्थान मंदिर में कोई गर्वग्रह नहीं है और ना ही कोई तहखाना है। यह आप नीचे दिए वीडियो में देख सकते हैं

कठुआ के देवस्थान मंदिर में 3 दरवाजा हैं और खिरकी भी खुली वाली हैं। जिस दिन 8 साल की बच्ची को देवस्थान में रखे जाने की बात बताई गई है उस दिन तो मंदिर में पूजा और भंडारा हुआ था तो यह बात सरे से खारिज हो जाती है की कठुआ की बच्ची को 4 दिन देवस्थान मंदिर में रखा गया था।

उपदेश राणा ने अपराधी बनाये गए संजीराम की बेटी से भी बात की तो संजीराम की बेटी ने एक चौकाने वाली बात बताई, उसने बताया की जिस दिन 17 जनवरी 2018 को कठुआ की बच्ची का शव मिला था ठीक उसके इस दिन पहले 16 जनवरी 2018 को अचानक गांव के बिजलीघर पर एक ब्लास्ट होता है और गांव की बिजली चली जाती है।

फिर रात को कोई बाहरी लोग बुलेट बाइक से मुह पर कपडा लगा के आते हैं और क्या करके जाते हैं यह कोई नहीं जानता। गाँव वालो ने बुलेट में 2 लोगो को आते-जाते देखा था। और फिर कुछ देर बाद देवस्थान मंदिर और संजीराम ने घर के बीच कठुआ की बच्ची का शव मिलता हैं। इन सब बातों की गौर किया जाय तो किसी बहुत बड़े षड्यंत्र का आभास मालूम पड़ता हैं।

उपदेश राणा ने अपने इस प्रयास से अंजना ॐ कश्यप की पत्रकारिता और उस देवस्थान मंदिर और गर्वग्रह वाली रिपोर्टिंग को तो गलत और झूठा साबित कर दिया है। यह जान कारी और उपदेश राणा की रिपोर्टिंग भारतीय मीडिया चैनल्स की गलत रिपोर्टिंग पर एक करारा तमाचा जरूर है।

आगे वीडियो में यह भी बताया गया है की यह कठुआ की बच्ची की हत्या जरूर किसी ने की किन्तु उसके शव को एक बड़े षड्यंत्र के तहत इस्तेमाल किया गया है और यह जम्मू के डोगरा हिन्दू जाती के खिलाफ एक शाजिश का हिस्सा है। इस शाजिश में डोगरा हिन्दुओ के जम्मू के कुल देवता के मंदिर अर्थात उस देवस्थान को निशाना बनाया गया और बदनाम किया गया।


Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *