Home > Leaks > पंजाब में लोकसभा चुनाव के चलते आम आदमी पार्टी को लग सकता है बड़ा झटका।

पंजाब में लोकसभा चुनाव के चलते आम आदमी पार्टी को लग सकता है बड़ा झटका।

Spread the love





लोकसभा चुनाव के बाद पंजाब की राजनीति में बड़ा हेर फेर दिखाई देने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसके दौरान आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है।पंजाब विधानसभा में उसका मुख्‍य विपक्षी दल का प्रभार छिनता हुए लग रहा है।आम आदमी पार्टी पंजाब विधानसभा में अपने नेता विपक्ष की सीट हारती हुई दिख रही है।

अब केवल स्पीकर के फैसले का ही इंतजार रह गया है। अगर स्पीकर राणा केपी सिंह अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी गठबंधन को समर्थन देते हैं तो आम आदमी पार्टी से नेता प्रतिपक्ष की सीट छिन सकती है। दो दिन के अंदर ही आम आदमी पार्टी को दो बड़े अहम झटके लगे उन झटकों से अभी आम आदमी पार्टी बाहर आया ही नही था कि दूसरे बड़े झटके लगते दिखाई दे रहे है।



मानसा के विधायक नाजर सिंह मानशाहिया आम आदमी पार्टी का साथ छोड़ कांग्रेस पार्टी में जुड़ गए है।जैतो से विधायक मास्टर बलदेव पार्टी से दूरी बनाकर पीडीए से चुनाव मैदान में उतर गए हैं। अपनी पार्टी का साथ छोड़ दूसरी पार्टी से चुनाव चुनाव लडऩा दल-बदल कानून के अंतर्गत आता है।अपनी पार्टी से बगाबत करके दूसरी पार्टी से चुनाव लडऩे वाला नेता पार्टी का स्थायी सदस्य नहीं माना जाता है।

पंजाब विधानसभा में आम आदमी पार्टी विधायकों की संख्या 20 थी। सुखपाल खैहरा को पार्टी ने निलंबित कर दिया था। खैहरा ने अपनी एक अलग पंजाबी एकता पार्टी गठन कर लिया है। एचएस फूलका कुछ दिन पहले ही पार्टी और विधानसभा सदस्यता से त्याग पत्र दे दिया है। कंवर संधू को आम आदमी पार्टी ने अपनी पार्टी से निष्काषित कर दिया है।




नाजर सिंह मानशाहिया के कांग्रेस में शामिल होने और बदलेव के चुनाव लडऩे के बाद विधानसभा में आम आदमी पार्टी के विधायकों की संख्या 16 ही शेष रह गई है। विधानसभा में 14 अकाली पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के तीन विधायक हैं। दोनों पार्टियों का गठबंधन चुनाव से पहले का ही है। अकाली दल- भारतीय जनता पार्टी के विधायकों की संख्या आम आदमी पार्टी से ज्यादा हो जाती है।

आम आदमी पार्टी के विधायकों की संख्या 16 ही शेष बची है।ये सारे अधिकार स्पीकर राणा केपी सिंह के पास सभी संविधानिक अधिकार है जिन्हें जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जाता हैं। यदि वह अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी के गठबंधन को स्वीकृति प्रदान नहीं देते हैं तो आम आदमी पार्टी के पास विपक्ष की सीट जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल की जाएगी।नही तो वो सीट भी अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में चली जाएगी।



Spread the love
Nitin Chourasia
Nitin Chourasia
Uploaderleaks is online news portal in Hindi. Nitin Chourasia is the founder and chief editor of this portal. If any query mail on uploaderleaks@gmail.com
http://www.uploaderleaks.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *